पेपर लीक मामले में हुआ बड़ा खुलासा, दो लेक्चरर व एक गवर्नमेंट फिजियोथैरेपिस्ट गिरफ्तार 
bisnoe-samachar

पेपर लीक मामले में हुआ बड़ा खुलासा, दो लेक्चरर व एक गवर्नमेंट फिजियोथैरेपिस्ट गिरफ्तार 

व्याख्याता प्रतियोगिता परीक्षा 2022 में डमी कैंडिडेट बैठाने के मामले में दो लैक्चचर को और RAS प्री परीक्षा 2014 पेपर लीक प्रकरण में लंबे समय से फरार एक गवर्नमेंट फिजियोथैरेपिस्ट को गिरफ्तार किया गया है।
WhatsApp Group Join Now
 
पेपर लीक मामले में हुआ बड़ा खुलासा, दो लेक्चरर व एक गवर्नमेंट फिजियोथैरेपिस्ट गिरफ्तार 

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- पेपर लीक मामले में आज एसओजी ने फिजियोथेरेपिस्ट और परीक्षाओं में डमी अभ्यर्थी बैठाने के मामले में दो लेक्चरर को गिरफ्तार किया हैं। पेपर लीक की जांच कर रही एसओजी ने स्कूल व्याख्याता प्रतियोगिता परीक्षा 2022 में डमी कैंडिडेट बैठाने के मामले में दो लैक्चचर को और RAS प्री परीक्षा 2014 पेपर लीक प्रकरण में लंबे समय से फरार एक गवर्नमेंट फिजियोथैरेपिस्ट को गिरफ्तार किया गया है।

पेपर लीक की घटनाओं की रोकथाम के लिए गठित एसआईटी चीफ वी के सिंह ने बताया कि राजस्थान लोक सेवा आयोग ने 17 अक्टूबर 2022 को स्कूल व्याख्याता (स्कूल शिक्षा) प्रतियोगिता परीक्षा 2022 आयोजित कराई थी। थाना सिविल लाइन अजमेर में दर्ज प्रकरण में अनुसन्धान के दौरान एसओजी ने बुधवार को राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय साविधर जसवंतपुरा जालोर में राजनीति विज्ञान के व्याख्याता पद पर काम कर रहे अशोक कुमार को गिरफ्तार किया।अशोक कुमार ने इस परीक्षा में लाखाराम पुत्र जूथा राम निवासी रुचियार थाना भीनमाल जिला जालौर के स्थान पर महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय जालोरी गेट जोधपुर में सामान्य ज्ञान एवं राजनीति विज्ञान विषय की डमी कैंडिडेट के रूप में परीक्षा दी थी। इसी प्रकरण में गुरुवार को अर्जुन कुमार पुत्र करनाराम विश्नोई (37) निवासी डूगरवा थाना बागोड़ा जिला जालौर को गिरफ्तार किया गया है। अर्जुन राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भागल सेफटा तहसील भीनमाल जिला जालौर में राजनीति विज्ञान विषय के व्याख्याता के पद पर है। इसने परीक्षार्थी लाखाराम और डमी कैंडिडेट अशोक कुमार के बीच कड़ी के रूप में कार्य किया था।

आरएएस प्री परीक्षा 2014 पेपर लीक प्रकरण में थाना एसओजी पर दर्ज प्रकरण में लंबे समय से वांछित चल रहे आरोपी कपिल कुमार भारद्वाज पुत्र रमाकांत (36) निवासी मोहन नगर थाना नई मंडी हिंडौन सिटी जिला गंगापुर को एसओजी ने हिरासत में लिया है। कपिल वर्तमान में महुवा हॉस्पिटल में फिजियोथेरेपिस्ट के पद पर पदस्थापित है।