गोगामेड़ी को गोलियां मारने वाला रिटायर्ड फौजी का बेटा रोहित राठौड़,जाने कैसे बना शूटर
bisnoe-samachar

गोगामेड़ी को गोलियां मारने वाला रिटायर्ड फौजी का बेटा रोहित राठौड़,जाने कैसे बना शूटर

 शूटर रोहित राठौड़ नागौर जिले के मकराना का निवासी है। शूटर रोहित पर नाबालिग से रेप का केस भी दर्ज है। उसे तीन साल पहले इस मामले में जमानत मिली थी। जानकारी के अनुसार हत्यारे 5 दिन से उसके घर की रेकी कर रहे थे। 
WhatsApp Group Join Now
 
गोगामेड़ी को गोलियां मारने वाला रिटायर्ड फौजी का बेटा रोहित राठौड़,जाने कैसे बना शूटर

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- श्री राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का आज हनुमानगढ़ के गोगामेड़ी स्थित उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार होगा। इससे पहले उनके पार्थिव शरीर को जयपुर स्थित राजपूत सभा भवन में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। यहां आज कई विधायक उनको श्रंद्धाजलि देने पहुंच सकते हैं।

गोगामेड़ी को गोलियां मारने वाले दोनों आरोपी अभी भी फरार हैं। वहीं पुलिस ने अलग-अलग टीमें बनाकर दोनों की तलाश में जुटी है। गोगामेड़ी की हत्या में शामिल एक शूटर नितिन फौजी जो कि हरियााणा के महेंद्रगढ़ का निवासी है वह आर्मी में है। नवंबर में छुट्टी पर आया था और अलवर में पोस्टेड था। वह 9 नवंबर के बाद से ही घर से गायब है।

वहीं दूसरा शूटर रोहित राठौड़ नागौर जिले के मकराना का निवासी है। शूटर रोहित पर नाबालिग से रेप का केस भी दर्ज है। उसे तीन साल पहले इस मामले में जमानत मिली थी। जानकारी के अनुसार हत्यारे 5 दिन से उसके घर की रेकी कर रहे थे। जिस दिन गोगामेड़ी की हत्या हुई उस दिन उनके पांच बाॅडीगार्ड छुट्टी पर थे।

शूटर रोहित राठौड़ नाबालिग से रेप के मामले में कई सालों तक जेल में रहा। वह तीन साल पहले ही जमानत पर छूटा था। इसके अलावा वह आर्म्स एक्ट में भी अरेस्ट हो चुका है। शूटर रोहित के पिता गिरधारी सिंह राठौड़ भी आर्मी में थे। सेना से सेनानिवृत होने के बाद वे आरटीओ में नौकरी करते थे, उनकी कुछ समय पहले ही हार्ट अटैक से मौत हो गई। रोहित का परिवार मूलतः मकराना का है लेकिन करीब 30 साल से जयपुर के झोटवाड़ा में रह रहा था।

रोहित की पड़ोसियों की मानें तो उसकी एक बहन भी है, जिसकी शादी हो चुकी है। वहीं पूरा मोहल्ला उसके कामों से परेशान रहता था। रेप मामले में जेल से छूटने के बाद वह कई लग्जरी गाड़ियों में घूमता था। कई बार लग्जरी गाड़ियों में वह अपने दोस्तों के साथ आते रहते थे। वह अपने गांव मकराना में भी कई बार लोगों से मारपीट कर चुका था। इसके कारण वह जयपुर में ही रहता था। रेप में मामले में जब वह जेल में बंद था तो उसकी मुलाकात कई बदमाशों से हुई थी। उसका संपर्क संपत नेहरा गैंग से भी था।

गोगामेड़ी की हत्या के बाद से ही उसके झोटवाड़ा स्थित घर पर पुलिस का पहरा है। पुलिस ने उसकी मां को सुरक्षा कारणों की वजह से किसी और जगह पर भेज दिया है। बता दें कि हत्यारे सुखदेव के घर की कई दिनों से रेकी कर रहे थे। वे उसके हर मूवमेंट पर नजर बनाए हुए थे।