गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच में NIA पहुंची शूटर नितिन फौजी के गांव
bisnoe-samachar

 गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच में NIA पहुंची शूटर नितिन फौजी के गांव

WhatsApp Group Join Now
 
 गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच में NIA पहुंची शूटर नितिन फौजी के गांव

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- राजस्थान के राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच कर रही नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) की अलग-अलग टीमों ने बुधवार की सुबह राजस्थान- हरियाणा में 30 जगह पर रेड की है। इनमें अकेले महेंद्रगढ़ के ही 7 गांवों में छानबीन चल रही है। इतना ही नहीं एक टीम हत्याकांड को अंजाम देने वाले शूटर नितिन फौजी के गांव दौंगड़ा जाट में भी जांच कर रही है।

बुधवार की सुबह करीब साढ़े 5 बजे NIA की टीमों ने एक साथ अलग-अलग जगह पर रेड की। महेंद्रगढ़ जिले में गुढ़ा, केमला, पाथेड़ा, खुडाना, दौंगड़ा जाट, सुरहेती, पिलानिया, मुंडिया खेड़ा में एनआईए की टीम जांच कर रही है। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में अभी तक अकेले हरियाणा के ही 7 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं।

5 दिसंबर को दोपहर करीब 1:03 बजे 2 बदमाशों ने गोगामेड़ी पर जयपुर में उसके घर के अंदर ही गोलियां चलाईं, फिर भाग निकले थे। गोगामेड़ी को मेट्रो मास हॉस्पिटल ले जाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था।

गोगामेड़ी के साथ घटना के दौरान मौजूद गार्ड अजीत सिंह गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए थे। बदमाशों की फायरिंग में नवीन शेखावत की भी मौत हो गई थी। नवीन ही बदमाशों को गोगामेड़ी के घर ले गया था।

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या करने के बाद दोनों शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ उसी दिन एक बस में सवार होकर रेवाड़ी जिले के धारूहेड़ा कस्बा पहुंचे थे। यहां से दोनों शूटर ऑटो में बैठकर रेवाड़ी पहुंचे और फिर ट्रेन के रास्ते हिसार में उधम सिंह नाम के शख्स के पास पहुंच गए।

उधम सिंह ही दोनों को घुमाने के लिए टैक्सी के जरिए मनाली तक लेकर पहुंचा। इसके बाद तीनों चंडीगढ़ पहुंचे। इस बीच दोनों शूटर के बारे में दिल्ली क्राइम ब्रांच और राजस्थान पुलिस को लीड मिल गई। 10 दिसंबर को रोहित राठौड़, नितिन फौजी, उधम सिंह को चंडीगढ़ के एक गेस्ट हाउस से गिरफ्तार किया था।