लॉरेंस बिश्नोई गैंग से हिस्ट्रीशीटर कैलाश मांजू को खतरा, पुलिस सुरक्षा की रखी मांग
bisnoe-samachar

लॉरेंस बिश्नोई गैंग से हिस्ट्रीशीटर कैलाश मांजू को खतरा, पुलिस सुरक्षा की रखी मांग

WhatsApp Group Join Now
 
लॉरेंस बिश्नोई गैंग से हिस्ट्रीशीटर कैलाश मांजू को खतरा, पुलिस सुरक्षा की रखी मांग

 Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- लॉरेंस बिश्नोई गैंग के बढ़ते खौफ से अब हार्डकोर और हिस्ट्रीशीटर अपराधी भी डरने लगे हैं। हाल में जोधपुर जिले के हार्डकोर अपराधी कैलाश मांजू ने पुलिस सुरक्षा की मांग की है। मांजू की पत्नी ने पुलिस में परिवाद भी दिया है। परिवाद में कैलाश मांजू पर लॉरेंस के गुर्गों की ओर से हमला करने का अंदेशा जताया गया है। पुलिस हार्डकोर के मकान के आस-पास की जगहों पर पुलिस गश्त कर रही है।

बता दें कि केंद्र की जांच एजेंसियों ने कुछ दिन पहले ही राजस्थान में लॉरेंस और रोहित गोदारा गैंग के शूटरों के होने की सूचना मिली थी। इसके बाद से जोधपुर पुलिस भी अलर्ट है। गैंग के वर्चस्व और गैंगवार की आशंकाओं के बीच अब हार्डकोर अपराधी भाटेलाई पुरोहितान के रहने वाले कैलाश पुत्र रामचंद मांजू को भी अपनी जान का खतरा है।

हिस्ट्रीशीटर मांजू की पत्नी प्रियंका विश्नोई ने जोधपुर के डीसीपी वेस्ट को परिवाद भी दिया है। परिवाद में अपने पति को पुलिस सुरक्षा देने की मांग की है। पत्नी ने उनके पति के एक रिश्तेदार पर ही लॉरेंस गैंग के साथ मिलकर पति की हत्या की प्लानिंग करने का अंदेशा जताया है। बताया कि उनके रिश्तेदार का सम्पर्क विदेश में बैठे गैंगस्टरों से भी है।

परिवाद के बाद पुलिस की ओर से अलग-अलग टीम लगाई गई थी। दो दिनों तक वीतराग सिटी में हार्डकोर के घर के पास जवानों को तैनात किया गया था। पुलिस गश्त भी लगातार की जा रही है।

कैलाश मांजू के खिलाफ लूट, हत्या, डकैती, अपहरण, रंगदारी, अवैध हथियार व मादक पदार्थों की तस्करी के मामले जैसे संगीन अपराधों के 42 मामले दर्ज हैं। उसके खिलाफ पहला मामला वर्ष 2003 में दर्ज हुआ था। मांजू अपने गांव का पूर्व में सरपंच रह चुका है।