गोगामेड़ी मर्डर के मास्टरमाइंड संपत नेहरा के परिवार को अब उसकी हत्या का डर
bisnoe-samachar

 गोगामेड़ी मर्डर के मास्टरमाइंड संपत नेहरा के परिवार को अब उसकी हत्या का डर

 परिवार को संदेह है कि जब इस मामले में राजस्थान पुलिस उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर लेकर जाएगी तो उसकी (संपत नेहरा​​​​) वहां पर हत्या हो सकती है। ऐसे में संपत नेहरा की पत्नी ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है।
WhatsApp Group Join Now
 
 गोगामेड़ी मर्डर के मास्टरमाइंड संपत नेहरा के परिवार को अब उसकी हत्या का डर

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- राजस्थान के सुखदेव गोगामेड़ी मर्डर के मास्टरमाइंड और गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के करीबी संपत नेहरा के परिवार को अब उसकी हत्या का डर सता रहा है। परिवार को संदेह है कि जब इस मामले में राजस्थान पुलिस उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर लेकर जाएगी तो उसकी (संपत नेहरा​​​​) वहां पर हत्या हो सकती है। ऐसे में संपत नेहरा की पत्नी ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है।

याचिका में कहा है कि अगर राजस्थान पुलिस संपत नेहरा से पूछताछ करना चाहती है तो वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करे। उसे राजस्थान न भेजा जाए। इस मामले में अब हाईकोर्ट ने राजस्थान पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। हालांकि, अभी तक राजस्थान पुलिस ने संपत नेहरा को रिमांड पर नहीं लिया है। पंजाब में ही अलग-अलग जिलों की पुलिस संपत नेहरा को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।
संपत नेहरा के टारगेट पर राजस्थान के सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हैं। इस बारे में पंजाब पुलिस को पता चल गया था। दरअसल, पंजाब की बठिंडा पुलिस ने मार्च महीने में हथियार तस्करी के केस में संपत नेहरा को प्रोडक्शन वारंट पर लिया था। इसी दौरान उसने अपने टारगेट के बारे में बताया।

जिसमें सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का भी नाम था। जिसमें यह भी पता चला कि उसने गोगामेड़ी की हत्या के लिए AK47 का भी इंतजाम कर लिया था। इस बारे में पंजाब पुलिस ने राजस्थान पुलिस को अलर्ट भी भेजा था।

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की जयपुर के श्याम नगर जनपथ स्थित उनके घर में मंगलवार दोपहर को गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। हत्याकांड की जिम्मेदारी राजस्थान के गैंगस्टर रोहित गोदारा ने ली थी। रोहित गोदारा लॉरेंस गैंग के सिंडिकेट का ही मेंबर है और इस वक्त विदेश में है।

संपत और रोहित गोदारा पुराने जानकार हैं। दोनों ने कई वारदातें भी आपस में मिलकर कीं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक रोहित गोदारा ने संपत नेहरा काे इस साजिश को अंजाम देने का जिम्मा सौंपा था।

1. पिस्तौल होने की वजह से नहीं मार सका
पुलिस सूत्रों की मानें तो 2021 में लॉरेंस ने सलमान को मारने के लिए संपत नेहरा को सुपारी दी थी। प्लान के मुताबिक वह मुंबई भी पहुंच गया था। वह मुंबई के वाशी इलाके में रहा था और सलमान के घर यानी 'गैलेक्सी अपार्टमेंट' की रेकी भी की थी। संपत ने मौका देख कर सलमान पर गोली भी चलाने का प्लान बना लिया था। हालांकि, उसके पास जो पिस्तौल थी उससे दूर तक निशाना नहीं साधा जा सकता था। सलमान हमेशा बॉडीगार्ड से घिरे रहते थे, इसलिए हमले के विफल होने की संभावना देख लॉरेंस के कहने पर संपत ने यह हमला कैंसिल कर दिया था।

2. दूसरी बार स्प्रिंग राइफल मंगाई, पर गिरफ्तार हो गया
पहली बार नाकामयाब होने के बाद संपत ने दूसरी बार हमला करने का प्लान बनाया। इस बार उसने अपने गांव के दिनेश फौजी के जरिए एक RK स्प्रिंग राइफल मंगवाई थी। ये राइफल लॉरेंस ने अपने जानकार अनिल पंड्या से 3-4 लाख में खरीदी थी, लेकिन जब राइफल दिनेश के पास थी, तभी वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। उससे पूछताछ के बाद संपत नेहरा भी गिरफ्तार हो गया।


संपत नेहरा को लॉरेंस बिश्नोई का राइट हैंड माना जाता है। वह चंडीगढ़ स्थित डीएवी कॉलेज में लॉरेंस बिश्नोई का जूनियर था। लॉरेंस के साथ ही उसने छात्र राजनीति में कदम रखते हुए आगे चलकर जुर्म का रास्ता पकड़ लिया। लॉरेंस के इशारे पर उसने दिल्‍ली, पंजाब, चंडीगढ़ और राजस्‍थान में कई वारदातों को अंजाम दिया है। पुलिस पहले भी खुलासा कर चुकी है कि उत्तर भारत में जुर्म को अंजाम देने के बाद वह दक्षिण भारत में जाकर छुप जाता था।

गैंगस्टर संपत नेहरा के पिता चंडीगढ़ पुलिस में ASI थे। इसलिए उसका परिवार चंडीगढ़ रहता था। संपत नेशनल प्लेयर रह चुका है। उसे कई पुरस्कार भी मिले हैं। संपत नेहरा जेल में बैठकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली एनसीआर में नेटवर्क चला रहा है।