मां से मिलने आया था गैंगस्टर गिरफ्तार,पांच जिलों में फरारी काटता रहा बदमाश
bisnoe-samachar

मां से मिलने आया था गैंगस्टर गिरफ्तार,पांच जिलों में फरारी काटता रहा बदमाश

 

भानुप्रताप गैंग का सक्रिय गैंगस्टर दिग्विजय उर्फ बिट्टू दीक्षित अब पुलिस के शिकंजे में है। पुलिस से बचने के लिए वह अलग अलग जिलों में भागता फिर रहा था। आरोपी से पुलिस पूछताछ में जुटी है।
WhatsApp Group Join Now
 
मां से मिलने आया था गैंगस्टर गिरफ्तार,पांच जिलों में फरारी काटता रहा बदमाश

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली-  भानुप्रताप गैंग का सक्रिय गैंगस्टर दिग्विजय उर्फ बिट्टू दीक्षित अब पुलिस के शिकंजे में है। पुलिस से बचने के लिए वह अलग अलग जिलों में भागता फिर रहा था। आरोपी से पुलिस पूछताछ में जुटी है। बदमाश के खिलाफ कोटा में कोटा, जयपुर और चित्तौड़गढ़ में आठ मामले दर्ज हैं। वह गैंगस्टर भानुप्रताप के गिरोह के लिए काम कर रहा था। भानु प्रताप के प्रतिद्वंद्वी गैंगस्टर शिवराज सिंह के भाई बृजराज सिंह व जितेन्द्र सिंह की हत्या साथियों के साथ मिलकर दिग्विजय ने की थी।

आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम में शामिल रही पुलिस ने बताया कि आरोपी एक साल से फरार था। पिछले एक साल में वह बार-बार अपने ठिकाने बदलता रहा। कोटा से वह कानपुर गया। कानपुर कुछ समय रुकने के बाद वह बार-बार ठिकाने बदल रहा था। इस दौरान भी वह गैंग के सदस्यों के संपर्क में बना हुआ था। आरोपी ने कानपुर, यूपी के इटावा, लखनऊ, आगरा और दिल्ली में फरारी काटी।

एक तरह से पुलिस लगातार उसके पीछे थी। इसी दौरान जानकारी मिली कि आरोपी दिग्विजय जयपुर में रह रही अपनी मां से मिलने आएगा। जिसके बाद कोटा पुलिस और एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स की टीम ने आरोपी को जयपुर से गिरफ्तार कर लिया। एसपी शरद चौधरी ने बताया कि 12 मई 2009 को मैनाल थाना बैगूं जिला चितौडगढ में गैंगस्टर भानु प्रताप सिंह गैंग ने प्रतिद्वंदी गैंगस्टर शिवराज सिंह के भाई बृजराज सिंह व जितेन्द्र सिंह कि गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। इस वारदात में दोषी सभी आरोपियों को उम्र कैद की सजा कोर्ट ने सुनाई थी। आरोपी दिग्विजय जमानत पर था और सजा सुनाए जाने से पहले ही फरार हो गया था। अपर सैशन न्यायालय क्रम 5 ने स्थाई गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। उदयपुर रेंज पुलिस ने उस पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था।