गैंगरेप के मामले में पूर्व विधायक मेवाराम जैन की याचिका पर सुनवाई आज
bisnoe-samachar

 

 गैंगरेप के मामले में पूर्व विधायक मेवाराम जैन की याचिका पर सुनवाई आज

WhatsApp Group Join Now
 
   गैंगरेप के मामले में पूर्व विधायक मेवाराम जैन की याचिका पर सुनवाई आज

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- कांग्रेस के पूर्व विधायक मेवाराम जैन की याचिका पर आज राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। मेवाराम पर पॉक्सो सहित 18 धाराओं में गैंगरेप का मामला दर्ज कराया था। मेवाराम ने एफआईआर को चुनौती देते हुए याचिका दर्ज की थी, जिस पर आज सुनवाई होनी है।

पूर्व विधायक ने दायर याचिका में जल्द सुनवाई के लिए प्रार्थना-पत्र दिया था। इस पर हाइकोर्ट जस्टिस कुलदीप माथुर ने सुनवाई से मना कर दिया था और अन्य बेंच में भेजने का आदेश दिया था। अब जस्टिस दिनेश मेहता की बैंच में सुनवाई होगी।

जोधपुर पश्चिम के राजीव गांधी नगर थाने में पीड़िता ने पूर्व विधायक मेवाराम जैन सहित 9 लोगों के खिलाफ पॉक्सो सहित 18 धाराओं में गैंगरेप का मामला दर्ज कराया था। 20 दिसंबर को दर्ज हुई FIR में मेवाराम, रामस्वरूप आचार्य, कोतवाल गंगाराम खावा, दाऊद खां, बाड़मेर डीसीपी आनंद सिंह राजपुरोहित, बाड़मेर के प्रधान प्रतिनिधि गिरधरसिंह सोढ़ा, नगर परिषद उपसभापति सुरतान सिंह, प्रवीण सेठिया, गोपाल सिंह राजपुरोहित के नामों का जिक्र है।

कांग्रेस के पूर्व विधायक मेवाराम जैन के खिलाफ जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट वेस्ट के राजीव गांधी पुलिस थाने में पीड़िता की शिकायत पर रेप, पॉक्सो, एससी-एसटी एक्ट में मामला दर्ज किया गया था। मेवाराम ने एफआईआर को निरस्त करने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। जिस पर कोर्ट ने 22 दिसंबर को मेवाराम जैन सहित अन्य लोगों की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए जांच में सहयोग का आदेश दिया था। मामले की अगली सुनवाई 25 जनवरी को तय की गई है।

पीड़िता ने कोर्ट में जल्द सुनवाई को लेकर प्रार्थना पत्र दिया था। बेंच में 8 जनवरी को सुनवाई हुई और अगली तारीख 10 जनवरी तय की गई। आज जांच अधिकारी को कोर्ट में केस डायरी के साथ पेश होने का आदेश था। केस का नंबर आने पर जस्टिस कुलदीप माथुर ने सुनवाई से मना करते हुए केस किसी अन्य बेंच में भेजने के आदेश दिए।

पूर्व विधायक के अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर होने के बाद कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने मेवाराम जैन को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निलंबित कर दिया था।