बिजराड़ पुलिस ने फर्जी इंस्पेक्टर बनकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले ठग को किया गिरफ्तार
bisnoe-samachar

बिजराड़ पुलिस ने फर्जी इंस्पेक्टर बनकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले ठग को किया गिरफ्तार 

WhatsApp Group Join Now
 
बिजराड़ पुलिस ने फर्जी इंस्पेक्टर बनकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले ठग को किया गिरफ्तार 

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- बाड़मेर जिले के बिजराड़ पुलिस ने फर्जी लेबर इंस्पेक्टर बनकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले ठग को गिरफ्तार किया है। ठग फर्जी लेबर इंस्पेक्टर बनकर लोगों से लेबर डिपार्टमेंट में श्रमिकों को मिलने वाली सहायता दिलाने के बदले कमीशन लेता था। आरोपी जोधपुर का रहने वाला है। सीमावर्ती जिले बाड़मेर में आकर भोली-भाली लेबर का ठगता था।

बिजराड़ थानाधिकारी मगाराम के मुताबिक जैसार निवासी ठाकराराम ने पुलिस थाने में रिपोर्ट देकर मामला दर्ज करवाया था। उसके भाई से लेबर डिपार्टमेंट का फर्जी अधिकारी बनकर रुपए पास करवाने की एवज में रुपए ट्रांसफर करवाए। पुलिस ने उसकी रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

जांच पड़ताल में सामने आया कि फर्जी लेबर इंस्पेक्टर बनकर लोगों से लेबर डिपार्टमेंट में लेबरों को मिलने वाली सहायत राशि दिलाने के एवज में कमशीन के रुपए लेकर धोखाधड़ी कर रहा था। इस पर पुलिस ने इस संबंध में जानकारी जुटाकर फर्जी इस्पेक्टर दिलीप कच्छवाहा पुत्र धीरेंद्र कच्छवाहा को जिला जोधपुर गांव तिंवरी मथानिया से दस्तायाब कर गिरफ्तार किया। पुलिस की टीम दिलीप कच्छवाहा से फर्जी लेबर इंस्पेक्टर बनकर लोगों से धोखाधड़ी करने के मामले में पूछताछ की जा रही है। पुलिस कार्रवाई में थानाधिकारी मगाराम, कांस्टेबल बाबूलाल, सुरजाराम, भूपेंद्रसिंह, शैतान राम शामिल रहे।

पुलिस पूछताद में सामने आया है कि आरोपी आले दर्जे का ठगबाज है जो लोगों को नौकरी, छात्रवृति का झांसा देकर ठगी करता है। आरोपी कके खिलाफ इस प्रकार की धोखाधड़ी के पुलिस थाना धोरीमन्ना व रामसर और पाली में मामले दर्ज है। पुलिस थाना रामसर में 1 लाख 11 हजार 200 रुपए व थाना धोरीमन्ना में 37 हजार 500 रुपए की धोखाधड़ी की गई है।