एजीटीएफ के पकड़ में 2 हथियार तस्कर ,किसी बड़ी गैंग से जुड़े हो सकते हैं तस्कर
bisnoe-samachar

एजीटीएफ के पकड़ में 2 हथियार तस्कर ,किसी बड़ी गैंग से जुड़े हो सकते हैं तस्कर

WhatsApp Group Join Now
 
एजीटीएफ के पकड़ में 2 हथियार तस्कर ,किसी बड़ी गैंग से जुड़े हो सकते हैं तस्कर

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली-  अलवर में एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स (एजीटीएफ) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 2 हथियार तस्करों को पकड़ा है. इनके पास से अवैध हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है. पुलिस पूछताछ में पता चला है कि तस्कर ऑन डिमांड हथियार सप्लाई करते थे. पहले सोशल मीडिया की मदद से हथियार पसंद करवाते थे. उसके बाद हथियार सप्लाई करते थे. तस्करों के बड़े गैंग से कनेक्शन होने की संभावना है

पुलिस की गिरफ्त में आए हथियार तस्करों की पहचान महुवा थाना निवासी एजाज अहमद एवं सालमपुर बास निवासी साहिल खान के रूप में हुई है. सदर थाना प्रभारी दिनेश मीणा ने बताया कि इनके पास से टीम ने एक पिस्टल, दो रिवाल्वर, तीन देशी कट्टे और 28 कारतूस बरामद किए है. ये स्थानीय गैंग को हथियार डिलीवर करने के लिए जा रहे थे. दोनों को अवैध हथियार समेत थाना सदर पुलिस को सौंपा गया. थाना पुलिस हथियार के स्रोत और इनके नेटवर्क के संबंध में पूछताछ कर रही है.

गैंगस्टर्स, हार्डकोर क्रिमिनल्स, इनामी व वांछित अपराधियों की निगरानी के दौरान टीम के हेड कांस्टेबल हेमंत शर्मा को इनपुट मिला था. उन्हें पता लगा कि अलवर जिले में हथियार तस्कर बाहर से हथियार लाकर स्थानीय बदमाशों को उपलब्ध करवा रहे हैं. इस सूचना पर आईजी क्राइम प्रफुल्ल कुमार के पर्यवेक्षण एवं एडिशनल एसपी आशा राम चौधरी के सुपरविजन तथा इंस्पेक्टर राम सिंह नाथावत के नेतृत्व में एक टीम अलवर रवाना की गई. अलवर में महुआ टोल के आगे हथियारों की खरीद फरोख्त की जानकारी हासिल हुई. एजीटीएफ ने स्थानीय पुलिस को साथ लेकर दादर गांव के पास खड़े दोनों युवकों एजाज अहमद और साहिल खान को दबोच लिया.

पुलिस पूछताछ में तस्करों से कई अहम जानकारी मिली है. पुलिस ने कहा है कि यह तस्कर ऑन डिमांड हथियार सप्लाई करते थे. पुलिस इस कार्रवाई को बड़ी सफलता मान रही है. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि तस्करों का संबंध किसी बड़ी गैंग से हो सकता है. पुलिस अब तस्करों का नेटवर्क तलाश करने में जुट गई है.