पीएम आवास योजना पहली किस्त जम्मा,लाखों लाभार्थी के बैंख खाते में आ गए पैसे
bisnoe-samachar

पीएम आवास योजना पहली किस्त जम्मा,लाखों लाभार्थी के बैंख खाते में आ गए पैसे

WhatsApp Group Join Now
 
पीएम आवास योजना पहली किस्त जम्मा,लाखों लाभार्थी के बैंख खाते में आ गए पैसे

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- PM Awas Yojana. देश में केन्द्र सराकर की ओर से आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण, राशन कार्ड पर अन्न योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, जन धन योजना, पीएम किसान सम्मान निधि योजना में एक और स्कीम संचालित हो रही है, जिसका नाम है पीएम आवास योजना। इसे संचालितक करने का सरकार कम मकसद देश में हर गरीब हर गरीब का अपना घर हो और सुविधाओं का लाभ मिले है। हाल ही में सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत बड़ी किस्त जारी की है।

आपके लिए इन योजनाओं को अपडेट पाने के लिए खबरों के माध्यम से पढ़ते रहना चाहिए। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा पीएम आवास योजना में संचालित की गई नई स्कीम पीएम जनमन योजना के तहत लाभार्थियों को पीएम आवास योजना की पहली किस्त जारी की गई है जिससे इन लाभार्थियों में खुशखबरी दौड़ गई है।

देश में हर गरीब को घर मिले और स्वास्थ्य सुविधा मिले तो इसके लिए सरकार पीएम आवास योजना को संचालित कर रही है। इस योजना के तहत बेघर लोगों को मकान बनाने या खरीदने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है आपको बता दें कि पीएम अवास योजना ग्रामीण के तहत लाभार्थी को 1.30 लाख रुपए की सब्सिडी  और पीएम आवास योजना शहरी के तहत इस योजना में 2.67 लाख रुपए की सब्सिडी दी जाती है। बता दें कि इस स्कीम में ये राशि 3 किश्तों में जारी की जाती है।

लाखों लाभार्थी के बैंख खाते में आ गए पैसे

हाल ही में भारत सरकार ने प्रधानमंत्री जनजाति आदिवासी न्याय महा-अभियान को शुरु किया है, जिसे जनमन योजना (PM Jan Man Yojana) के नाम से जाना जाता है। इस स्कीम के तहत विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूह के लोगों को लाभ दिया जा रहा है। बता दें कि इन इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए पीएम आवास योजना की पहली किस्त जारी की गई है।

सरकार के द्धारा इस योजना को विस्तार करने का बड़ा मकसद है, क्योंकि देश में ऐसे कई इलाको में अभी घर जैसी बुनियादी सुविधाओं नहीं मिल पाया है, जिससे अब गरीब और पिछड़ी जातियों की बस्तियों को सुरक्षित आवास में बदला जाएगा। इस योजना के तहत आवास में स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करा जाएगा। इसके साथ ही जनजातीय लोगों को शिक्षा, बिजली, सड़क दूर संचार जैसी सुविधाओं का लाभ दिया जाएगा। इसके अलावा स्वास्थ्य, पोषण और कमाई के साधन मिल सकें।