झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन घर पहुंची ED , जमीन घोटाले के मामले में शक के घेरे में
bisnoe-samachar

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन घर पहुंची ED , जमीन घोटाले के मामले में शक के घेरे में

WhatsApp Group Join Now
 
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन घर पहुंची ED , जमीन घोटाले के मामले में शक के घेरे में

 Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से लगातार नोटिस देने के बावजूद पेश न होने और न ही उसका जवाब देने के कारण ED की टीम आज सुबह-सुबह उनके दिल्ली स्थित आवास पर पहुंच गई। ईडी की टीम पहुंचने के बाद हलचल तेज हो गई है। सूत्रों के मुताबिक, सोरेन आवास में ही मौजूद हैं और अगर ED को जरुरत महसूस हुई तो वह आज उन्हें गिरफ्तार कर सकती है।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कथित जमीन घोटाले के मामले में शक के घेरे में हैं। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि सोरेन ने खुद पूछताछ के लिए एजेंसी को वक्त दिया था या फिर अचानक उनके आवास पर छापेमारी की गई है। इससे पहले 20 जनवरी को रांची में ईडी ने सोरेन से उनके आवास में सात घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी।

झारखंड की सत्ताधारी पार्टी झामुमो के कार्यकर्ता पिछले कई दिनों से सड़कों पर निकलकर आक्रोश जाहिर कर रहे हैं। इसको देखते हुए रांची में भी सोरेन के आवास के आसपास सुरक्षा पुख्ता कर दी गई है। वहीं, दिल्ली में शांति निकेतन स्थित उनके आवास पर दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों की तैनाती को देखते हुए सोरेन की गिरफ्तारी की आशंका भी जाहिर की जा रही है।

बता दें कि प्रवर्तन निर्देशालय ने हेमंत सोरेन को 22 जनवरी को समन भेजकर 27 से 31 जनवरी के बीच पूछताछ का वक्त मांगा था। इसके बाद सीएम ने ईडी को एक पत्र भेजकर बाद में पूछताछ का वक्त देने की बात कही थी। इसके बाद ईडी ने फिर 25 जनवरी को मेल के जरिए सीएम को 29 या 31 जनवरी को पूछताछ करने के लिए वक्त देने की बात कही। साथ ही एजेंसी ने कहा है कि अगर सीएम वक्त नहीं देते हैं, तो जांच पदाधिकारी उनके पास आकर पूछताछ करेंगे।

इस बीच मुख्यमंत्री शनिवार की रात 9 बजे रांची से दिल्ली के लिए रवाना हो गए थे। दिल्ली में उन्होंने अपने आवास पर कानूनी पहलुओं पर रायशुमारी की। अटकलें थीं कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 29 जनवरी की बजाय 31 जनवरी का वक्त दे सकते हैं। झामुमो सूत्रों के मुताबिक, ईडी को पूछताछ के लिए सीएम हाउस या एजेंसी के कार्यालय में से किसी एक जगह पूछताछ करने की सूचना भेजी जाएगी।