bisnoe-samachar

जाट महापंचायत ने सरकार को दी बड़ी चेतावनी,अब करेंगे हाईवे जाम 

WhatsApp Group Join Now
 
जाट महापंचायत ने सरकार को दी बड़ी चेतावनी,अब करेंगे हाईवे जाम 

 Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली-  केंद्र में सरकारी नौकरियों में ओबीसी वर्ग में आरक्षण की मांग को लेकर पिछले19 दिन से चल रहा जाटों का महापड़ाव अब गति पकड़ने लगा है. रविवार को जिले के गांव जयचोली में आयोजित महापंचायत में भरतपुर धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने 7 फरवरी को दिल्ली- मुंबई रेलवे ट्रैक और नेशनल हाइवे को जाम करने का निर्णय लिया है.

संयोजक नेम सिंह फौजदार ने बताया कि जाट समाज द्वारा 19 दिन से गांधीवादी तरीके से महापड़ाव डाला हुआ है, लेकिन सरकार इस मामले को गंभीरता से नहीं लेने के बजाय टाल -मटोल कर रही है, इसलिए महापंचायत में आंदोलन को तेज करने का निर्णय लिया गया.

रिपोर्ट के मुताबिक जियाचोली गांव में बुलाए गए  महापंचायत में भरतपुर धौलपुर के जाट समाज के लोग बड़ी संख्या में पहुंचे और सर्वसम्मति से फैसला लिया गया है कि अगर सरकार ने 7 फरवरी दोपहर 12 बजे तक उनकी मांगें नहीं मानी तो दिल्ली- मुंबई रेलवे ट्रैक के साथ नेशनल हाईवे को जाम कर दिया जाएगा.

आरक्षण संघर्ष समिति का कहना है कि जाट समाज के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. सरकार जाट समाज के गांधीवादी आंदोलन को गंभीरता से नहीं ले रही, यही वजह है कि हम यह निर्णय लेने को मजबूर हुए है, अब आरक्षण की लड़ाई आर पार की रहेगी.

गौरतलब है जाट समाज द्वारा शहर के एक निजी मैरिज होम में आयोजित महापंचायत में पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह मौजूद रहे है. उन्होंने महापंचायत को संबोधित करते हुए कहा था कि कुछ लोग छोटी-मोटी महापंचायत कर महापड़ाव हुए हैं. यह बंद होना चाहिए.

माना जा रहा है कि भरतपुर धौलपुर जाट समाज के आरक्षण को लेकर दो फाड बन चुके हैं.एक गुट सरकार से शांतिपूर्वक वार्ता कर अपनी मांग मनवाने के लिए लगा हुआ है, तो दूसरे गुट ने 7 फरवरी दोपहर 12 तक बजे तक सरकार को अल्टीमेटम देते हुए दिल्ली मुंबई रेलवे ट्रैक और नेशनल हाईवे को जाम करने का निर्णय लिया है.