केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी,डीए का नया आंकड़ा जारी
bisnoe-samachar

 केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी,डीए का नया आंकड़ा जारी

WhatsApp Group Join Now
 
 केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी,डीए का नया आंकड़ा जारी

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- केंद्रीय कर्मचारियों के लिए आने वाले 13 दिन अच्छे खासे गुजरने वाले हैं। कर्मचारियों को 31 जनवरी का इंतजार जोरों से है।  इस दिन कर्मचारियों को साल 2024 की पहली गुड़ न्यूज मिलेगी। डीए का नया आंकड़ा जारी होने वाला है।

इसके बाद जनवरी 2024 से कितना डीए कर्मचारियों को मिलेगा। इस पर सरकार मुहर लगा सकती है। वहीं अच्छी खबर ये है कि डीए 50 फीसदी मिलना लगभग तय है। वहीं पिछले आंकड़ों तक ही डीए इसके करीब पहुंच चुका है। रिटेल और थोक महंगाई दर में जबरदस्त उछाल देखने को मिल चुका है। डीए में जबरदस्त इजाफा हो सकता है।

अब ये तो कंन्फर्म हो चुका है कि कर्मचारियों को 1 जनवरी 2024 से 50 फीसदी डीए मिल जाएगा। लेकिन अभी 51 फीसदी मिलने से भी इनकार नहीं किया दा सकता है। क्यों कि दिसंबर एआईसीपीआई के नबंर्स अभी बाकी हैं।

यदि इंडेक्स में तेल उछाल आता है तो जनवरी में डीए 50.52 अंकों तक पहंच सकता है। ऐसी स्थिति में डीए 51 फीसदी भी हो सकता है। लेकिन इस समय ट्रेंड्स देखें तो 50 फीसदी कंन्फर्म हो चुका है। इसमें 4 फीसदी का इजाफा होना तय है।

आपको बता दें एआईसीपीआई ने नवंबर में 0.7 प्वाइंट का उछाल दिया गया है। कुल डीए का स्कोर 0.60 फीसदी से बढ़कर 49.69 फीसदी पर पहुंच चुका है। लेकिन एक्सपर्ट के मुताबिक एक उछाल आना बाकी है। रिटेल और थोक महंगाई अपनी अधिकतम स्तर पर है। यदि एआईसीपीआई में तेजी से उछाल आता है तो इसमें 5 फीसदी का इजाफे से इनकार नहीं किया जा सकता है।

जानकारी के लिए बता दें अगर जनवरी में केंद्रीय कर्मचारियों को 50 फीसदी डीए मिलेगा लेकिन इसके बाद डीए को जीरो किया जाएगा तो इसके बाद डीए की कैलकुलेशन जीरो से शुरु होगी।

50 फीसदी डीए को कर्मचारियों की बेसिक सैलरी से ऐड किया जाएगा। ऐसे में मान लें यदि किसी कर्मचारी को पे बैंड के हिसाब से मिनिमम बेसिक सैलरी 18 हजार रुपये है तो 50 फीसदी का 9 हजार रुपये उसकी सैलरी से ऐड कर दिया जाएगा।

जब भी नया वेतन आयोग लागू किया जाता है तो कर्मचारियों  को मिलने वाले डीए को मूल वेतन में ऐड कर दिया जाता है। जानकारी के मुताबिक यू तो नियम कर्मचरियों को मिलने वाले डीए को मूल वेतन में जोडना चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं हो पाता है। फाइनेंशियल स्थिति आपके आड़ें में आती है।

बहराल 2016 में ऐसा नहीं किया गया है। इससे पहले साल 2006 में जब छठा वेतन आयोग लागू होगा तो उस समय 5वें वेतन आयो में दिसंबर तक 187 फीसदी डीए मिल रहा था। पूरा डीए वेतन में जोड़ दिया गया था।