39 वें आलम पशु मेले का हुआ शुभारम्भ, अब नही रही मेले की रोनक
bisnoe-samachar

39 वें आलम पशु मेले का हुआ शुभारम्भ, अब नही रही मेले की रोनक

WhatsApp Group Join Now
 
बिश्नोई समाचार
राजस्थान बिश्नोई समाचार नेटवर्क पत्रकार भुवनेश राव/ दिनेश बाङमेर धोरीमन्ना मुख्यालय पर सन 1984 में स्वर्गीय पुर्व प्रधान मघाराम वाभू द्वारा किसानों की माग को देखते हुए धोरिमना स्थित खरड़ गाव में इस पशु मेले की नीव रखी ओर जिसका नाम आलम पशु मेला दिया गया। 

 

 

इसमें मेले पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर, बालोतरा, जैसलमेर, सांचोर , जालोर जिले के पशुपालक अपने अपने पशु बेचने आते  जिसमे ऊंट, घोड़ा आदि पशु बिकने आते है पशुओं की ख़रीदारी के लिए गुजरात, मध्यप्रदेश , गुजरात से व्यापारी आते है साथ ही सेना के जवान भी इस मेले में ऊंटो की ख़रीदारी करते हैं, शुभारम्भ कार्यक्रम के मुख्यातिथि उपखण्ड अधिकारी धीरेन्द्रसिंह सोनी ने पशुपालकों सम्बोधित करते हुए बताया कि हमारा देश कृषि प्रधान देश के साथ साथ पशु प्रधान देश भी है आम आदमी की आजीविका  चलाने का मुख्य साधन पशु है हमे पशुओं की रक्षा करनी चाहिए, कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही धोरीमन्न प्रधान इंदुबाला विश्नोई ने बताया कि इस मेले के माध्यम से पशिचिमी राजस्थान के पशुपालकों को अपने पशु बेचने बाहरी राज्यो में नही जाना पड़ रहा है, 

 

 

ओर इस मेले अधिकतर ऊंट बिकने आते है ऊंट हमारी धरोहर है रेगिस्थान के जहाज के नाम से विख्यात है देश की सीमा पर चोकसी कर फौजी भाइयों के लिए मुख्य साधन है हमारे राज्य एव जिले विदेशी आकर ऊंट सवारी कर आनंदमय होते हैं, भाजपा मंडल अध्यक्ष जयकिशन भादू ने भी मेले आए पशुपालकों एव किसानों को मेले की उपयोगिता के बारे में अवगत करवाया, काग्रेस कमेटी के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष दिनेश कुलदीप ने बताया कि इस मेले के माध्यम से यहां के स्थानीय लोगो को रोजगार भी मिल रहा और साथ साथ जिले भर के व्यापारी यहां व्यापार करते है।

 मेला प्रभारी बाबूलाल विश्नोई ने बताया कि यह पशु मेला 3 फरवरी तक चलेगा ओर बाहर से आने वाले पशुपालकों के लिए पशुओं के लिए  पानी एवं चिकित्सा सुविधाओ की उचित  व्यवस्था पचायत समिति की तरफ से  गई हैं । मोटवी माता मंडल अध्यक्ष केसाराम सुथार ने मेले में  पधारे पशुपालकों, किसानों एव व्यपारियो का धन्यवाद ज्ञापित किया। शुभारंभ कार्यक्रम में विकास अधिकारी भवरलाल कालवी, तहसीलदार भागीरथ विश्नोई, थानाधिकारी सुखराम विश्नोई, पचायत समिति सदस्य वीरेन्द्र बोला ,आदि प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद रहे