भजनलाल सरकार की पहली कैबिनेट मीटिंग में लिए महत्वपूर्ण डिसीजन,देखे
bisnoe-samachar

भजनलाल सरकार की पहली कैबिनेट मीटिंग में लिए महत्वपूर्ण डिसीजन,देखे

WhatsApp Group Join Now
 
भजनलाल सरकार की पहली कैबिनेट मीटिंग में लिए महत्वपूर्ण डिसीजन,देखे

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- भजनलाल सरकार की गुरुवार को हुई पहली कैबिनेट मीटिंग में कई महत्वपूर्ण डिसीजन लिए गए। इसमें राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) की मुख्य परीक्षा की डेट बढ़ाने का निर्णय शामिल है।

वहीं, गहलोत सरकार के आखिरी 6 महीने में लिए गए निर्णयों का भी रिव्यू किया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है जो तीन महीने में रिपोर्ट सौंपेगी। मिनिस्टर डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने बताया कि 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश नहीं होगा। रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के दिन छुट्‌टी को लेकर कैबिनेट में कोई चर्चा नहीं हुई।

चीफ मिनिस्टर ऑफिस (CMO) में करीब एक घंटे चली मीटिंग से पहले पूजा-पाठ और स्वस्ति वाचन हुआ। इसके बाद मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और सभी मंत्रियों को तिलक लगाया गया।

सचिवालय मंदिर के पुजारी ने कहा कि उन्होंने 33 साल में पहली बार देखा है कि किसी मीटिंग से पहले पूजा-पाठ कराया गया हो। सरकार गठन के 34 दिन बाद पहली बार कैबिनेट की मीटिंग बुलाई गई थी।

कैबिनेट मीटिंग में क्या हुआ?

  • गहलोत सरकार के अंतिम 6 महीनों में लिए गए नीतिगत फैसलों के रिव्यू के लिए भी कैबिनेट की बैठक में रिव्यू कमेटी गठन करने का फैसला। तीन महीने में जांच कर सौंपी जाएगी रिपोर्ट।
  • कैबिनेट की बैठक में एक बार फिर से मीसा बंदियों की पेंशन शुरू करने को मंजूरी। भजनलाल कैबिनेट ने विभागों की 100 दिन की कार्ययोजना को भी मंजूरी दे दी है। कैबिनेट का मानना है कि इससे विभागीय कार्यों को समय पर पूरा किया जा सकता है।
  • गहलोत सरकार ने भी अपने घोषणा पत्र को कैबिनेट की पहली बैठक में रखवा कर उसे सरकारी दस्तावेज घोषित करवाया था। इसी तरह भजनलाल शर्मा की कैबिनेट ने भी संकल्प पत्र को नीतिगत दस्तावेज घोषित किया है।
  • एक परिवार को सब्सिडी पर हर महीने एक सिलेंडर दिया जाएगा।
  • अन्नपूर्णा रसोई में 6 जनवरी से परिवर्तन। 450 ग्राम भोजन की जगह अब बढ़ाकर 600 ग्राम किया गया है। चपाती, दाल, सब्जी और मिलेट्स को शामिल किया गया है। पहले थाली 25 रुपए की होती थी, उसे बढ़ाकर 30 रुपए की गई है, इसमें 22 रुपए सरकार देगी।
  • अवैध खनन को रोकने के लिए टीम बनाई गई है, ​इसकी निगरानी कलेक्टर करेंगे। वहीं, ईआरसीपी को लेकर भी काम शुरू करने की जानकारी दी गई।
  • बजट से पहले 30 से 40 प्रतिशत संकल्प पत्र के काम पूरा करने का निर्णय।
  • पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व मंत्री शांति धारीवाल और आर्किटेक्ट अनूप बरतरिया के साथ धारीवाल के राजनीतिक सलाहकार की भी प्रतिमा लगाई गई, इनकी जांच होगी और कार्रवाई होगी
  • आरएएस मेंस एग्जाम की तारीख को बढ़ाया गया, साथ में तय किया गया है कि यूपीएससी की तर्ज पर आरपीएससी भी परीक्षा का कैलेंडर जारी करेगी। परीक्षा संभवत: जून-जुलाई में हो सकती है।