भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर BSF हाई अलर्ट पर, ऑपरेशन सर्द हवा हुआ शुरू
bisnoe-samachar

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर BSF हाई अलर्ट पर, ऑपरेशन सर्द हवा हुआ शुरू

WhatsApp Group Join Now
 
भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर BSF हाई अलर्ट पर, ऑपरेशन सर्द हवा हुआ शुरू

Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- भारत के पश्चिमी सीमा पर बसा सरहदी जिला जैसलमेर वैसे तो पर्यटन के क्षेत्र में अपनी विशेष पहचान रखता ही है लेकिन सीमा पर बसा होने की वजह से पडौसी देश पाकिस्तान द्वारा भी यहां अनैतिक गतिविधिया होने की आशंका बनी रहती है. देश की पश्चिमी सीमा पर शीतलहर व धुंध के चलते सीमा पार से घुसपैठ की आशंका को देखते हुए समूची पश्चिमी सीमा पर सीमा सुरक्षा बल द्वारा  विशेष एक्सरसाइज ऑपरेशन अलर्ट सर्द हवा आज से शुरू किया गया. आगामी गणतंत्र दिवस और राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर भारत-पाक सीमा हाई अलर्ट है.  

गौरतलब है कि बीएसएफ अपने रूटीन एक्सरसाइज के दौरान गर्मी के मौसम में ऑपरेशन गर्म हवा और सर्दी के मौसम में ऑपरेशन अलर्ट सर्द हवा चलाती है. हर साल यह अभियान चलते हैं और इस दौरान सीमा पार कड़ी निगरानी रखी जाती है. जानकारी के अनुसार इन दिनों सीमावर्ती इलाकों में सर्दी का अत्यधिक असर देखने को मिलता है. सर्दी के मौसम में देर रात से सुबह तक धुंध भी छा जाती है. इस धुंध का फायदा उठाकर कोई घुसपैठ न हो इसके लिए बीएसएफ की ओर से ऑपरेशन सर्द हवा के तहत कड़ी निगरानी की जाती है.

जैसलमेर जिले में हर साल ऑपरेशन अलर्ट के चलते सीमा पर चौकसी बढ़ दी जाती है. इस बार भी चौकसी बढ़ाई जाएगी. साथ ही इस बार अत्याधुनिक हथियारों के साथ पेट्रोलिंग की जाएगी. इसके साथ ही ऑपरेशन सर्द हवा में सीमा से सटी पुलिस की चौकियां भी विशेष निगरानी रखेगी.

सीमा क्षेत्र में तारबंदी के निकट बीएसएफ के अधिकारी वाहनों के माध्यम से लगातार पेट्रोलिंग कर रहे हैं. इस दौरान केमल पेट्रोलिंग भी बढ़ा दी जाती है. आम दिनों में होने वाली पेट्रोलिंग व गश्त से अधिक ऑपरेशन सर्द हवा में यह प्रक्रिया की जाती है. इसके अलावा खुर्रा चैकिंग भी इस दौरान तेज कर दी जाती है. 

जानकारी के अनुसार ऑपरेशन अलर्ट के दौरान सीमा पर बीएसएफ की इंटेलीजेंसी विंग भी सक्रिय रहती है. इसके अलावा अन्य खुफिया एजेंसियों से भी बीएसएफ का तालमेल रहता है और हर एक संदिग्ध गतिविधि पर नजर रखी जाती है. 
बीएसएफ में हैडक्वार्टर पर कार्यरत जवानों व अधिकारियों को इस ऑपरेशन के तहत सीमा चौकियों पर लगाया जाएगा. सीमा चौकियों पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के साथ पेट्रोलिंग व गश्त भी बढ़ाई जाएगी. जिससे धंुध का सहारा लेकर कोई घुसपैठ ना हो.

जानकारों के मुताबिक दुश्मन यहां घुसपैठ करने के लिए सक्रिय हो जाते हैं, लेकिन कठिन परिस्थितियों के अभ्यस्त सीमा प्रहरी सीमा पार से घुसपैठ कर देश की सीमा में किसी को नहीं घुसने देने के लिए हमेशा सतर्क व चौकन्ने रहते हैं.

पांच उद्देश्यों के साथ शुरू होगा ऑपरेशन  

बॉर्डर पर वेपन व मैन पावर को बढ़ाकर बॉर्डर को मजबूती प्रदान करने के होंगे प्रयास . 

बॉर्डर पर नफरी भेजकर बॉर्डर पर डिप्लोइड करना. 

निगरानी व खुफिया तंत्र को मजबूत करने की कवायद. 

डोमिनेशन से दिन व रात में बॉर्डर को सुरक्षा के लिहाज से अधिक प्रभावी करना .   

प्रोटेक्शन ऑफ  प्लान का रिहर्सल .