क्रीङा भारती के खेल महोत्सव में पर्यावरण सेवकों ने दिया पर्यावरण संरक्षण का अनूठा संदेश
bisnoe-samachar

क्रीङा भारती के खेल महोत्सव में पर्यावरण सेवकों ने दिया पर्यावरण संरक्षण का अनूठा संदेश

सम्पूर्ण खेल मैदान को किया पर्यावरण संरक्षण संदेशों से  सुसज्जित ,पर्यावरण सेवकों ने तांबे के लोटों से जलपान कराकर दिया प्राचीन भारतीय संस्कृति को पुनर्जीवित करने का संदेश

WhatsApp Group Join Now
 
क्रीङा भारती के खेल महोत्सव में पर्यावरण सेवकों ने दिया पर्यावरण संरक्षण का अनूठा संदेश

 Bishnoi Samachar Digital Desk नई दिल्ली- क्रीङा भारती महानगर जोधपुर की ओर से आयोजित अनूठे खेल महोत्सव में हजारों की संख्या में बच्चों से लेकर बुजुर्गों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया।पर्यावरण सेवक व स्टेट अवार्डी शिक्षक जगदीश प्रसाद विश्नोई ने बताया कि खेल मैदान में खिलाङियों, निर्णायकों व मेहमानों को अनूठा पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए अंतरराष्ट्रीय पर्यावरणविद खमुराम बिश्नोई के नेतृत्व में निस्वार्थ भाव से तीस सदस्यीय कोशिश पर्यावरण सेवक टीम वहां पहूंची।

पर्यावरण टीम ने खेल मैदान में भव्य पर्यावरण संरक्षण प्रदर्शनी व सम्पूर्ण खेल मैदान को पर्यावरण संरक्षण संदेशों से सुसज्जित किया ताकि प्रत्येक खिलाड़ी व मेहमान पर्यावरण संरक्षण के प्रति प्रेरित हो सके। इसके साथ ही पर्यावरण सेवकों ने जलपान  व्यवस्था की जिम्मेदारी लेते हुए पूरे दिन खिलाङियों, निर्णायकों व मेहमानों को तांबे के लोटों से जल पिलाकर प्राचीन भारतीय संस्कृति को पुनर्जीवित करने हेतु यानि तांबे के बर्तन व मिट्टी के बर्तन इस्तेमाल करने का संदेश दिया व भोजनशाला में जूठन नहीं छोङे इसके लिए जनजागरूकता अभियान चलाकर जूठा न के बराबर छोङने दिया।पर्यावरण सेवकों ने ये सभी कार्य निस्वार्थ भाव से किया यानि प्रकृति के प्रति हमारी नैतिक जिम्मेदारी को निभाने हेतु सभी को प्रेरित करने हेतु किया।

खेल महोत्सव के उद्घाटन व समापन अवसर में पधारे सभी मेहमानों ने पर्यावरण सेवकों को इस प्रेरणादायक सेवा कार्यों के लिए प्रोत्साहित कर पीठ थपथपाई।इस अवसर पर राजस्थान सरकार के केबिनेट मंत्री जोगाराम पटेल,भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी रवि बिश्नोई,क्रीङा भारती राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रसाद महानकर, उत्कर्ष क्लासेज के निदेशक निर्मल गहलोत,प्रांत अध्यक्ष पृथ्वीराज जोधा सहित पधारे सभी मेहमानों ने पर्यावरण सेवकों को मंच पर बुलाकर सभी खिलाड़ियों व निर्णायकों से इनके सेवा कार्यों से परिचय कराया ताकि प्रत्येक खिलाड़ी पर्यावरण संरक्षण के प्रति प्रेरित हो सके।

तीस सदस्यीय कोशिश पर्यावरण सेवक टीम में अंतरराष्ट्रीय पर्यावरणविद खमुराम बिश्नोई, स्टेट अवार्डी शिक्षक जगदीश प्रसाद विश्नोई धोरीमन्ना,जगराम मांजू,चैनाराम बेनीवाल, ठाकराराम बिश्नोई,ओमप्रकाश बेनीवाल,परिणती बिश्नोई, कैलाश बेनीवाल,भंवरी कालिराणा,शारदा एडवोकेट,जमना व ओमप्रकाश जी सहित कई सेवकों ने निस्वार्थ भाव से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।